Hindi
Friday 18th of August 2017
code: 81101
इराक़ी बल का साहस और बलिदान सराहनीय है।

इराक़ के वरिष्ठ धर्मगुरू ने कहा है कि इराक़ी बलों ने पूरे देश को गौरवान्वित किया है।
आयतुल्लाहिल उज़मा सैयद अली सीस्तानी ने ईरान के एक वरिष्ठ धर्मगुरू आयतुल्लाह साफ़ी गुलपायगानी को लिखे गए पत्र में कहा है कि इराक़ी बलों ने जिस साहस और बलिदान का प्रदर्शन किया है वह बहुत अधिक सराहनीय है। मूसिल नगर को दाइश के आतंकियों के चंगुल से मुक्त कराए जाने पर आयतुल्लाह साफ़ी गुलपायगानी की ओर से आयतुल्लाह सीस्तानी को लिखे गए बधाई के पत्र के जवाब में उन्होंने कहा है कि पिछले तीन साल में इराक़ी बलों और जनता ने आतंकी गुट दाइश के मुक़ाबले में जिस साहस, त्याग और बलिदान का प्रदर्शन किया है वह सराहनीय है।
ज्ञात रहे कि आयतुल्लाह सीस्तानी के जेहाद के फ़तवे के बाद इराक़ में स्वयं सेवी बल का गठन हुआ था जिसने अन्य इराक़ी बलों के साथ मिल कर देश के विभिन्न क्षेत्रों से दाइश को खदेड़ दिया है। दाइश ने जून 2014 में मूसिल जैसे अहम शहर पर क़ब्ज़ा कर लिया था लेकिन लगभग दो सप्ताह 10 जुलाई को इराक़ी बलों ने इस नगर को, जिसे दाइश अपनी राजधानी बताता था, दाइश के आतंकियों के चंगुल से मुक्त करा लिया जिस पर दुनिया भर से इराक़ी बलों की सराहना की जा रही है।

user comment
 

latest article

  लेबनान की रक्षा के लिए हिज़्बुल्लाह का ...
  बहरैन की महिला मानवाधिकार कार्यकर्ता ने ...
  अमरीकी सैनिकों को तत्काल बाहर निकाला ...
  पश्चिमी एशिया में ईरान की मौजूदगी का कोई ...
  आतंकवादियों को हरानें में ईरान की हमारी ...
  इराक़ी स्वंयसेवी बल ने सीरिया-इराक़ ...
  तलअफर में आईएस गिन रहा है अपनी अंतिम ...
  एक भी आतंकवादी को बच कर नहीं जाने देंगेः ...
  यमन जंग बनी, सऊदी अरब के गले की हड्डी, न ...
  आईएस ने अपने ही दस साथियों को ज़िंदा ...