Hindi
Sunday 19th of November 2017
code: 81177
सरकार हमें सुरक्षा प्रदान नहीं कर सकती तो बता दे, हम अपनी रक्षा स्वंय कर लेंगे।

अहलेबैत न्यूज़ एजेंसी अबनाः राइटर न्यूज़ एजेंसी की रिपोर्ट के अनुसार कल  पुलिस की वर्दी में एक आत्मघाती हमलावर ने काबुल की एक शिया मस्जिद में प्रवेश कर अपने आप को उड़ा दिया  जिसके परिणामस्वरूप  40 से अधिक लोग मारे गए और 100 से अधिक घायल हो गए हैं।
इस हादसे की शिकार काफ़ी महिलाएं भी हुईं, जो मस्जिद की दूसरी मंज़िल पर मौजूद थीं, हमले की ज़िम्मेदारी आईएस आतंकियों ने ली है। उल्लेखनीय है कि अफ़ग़ानिस्तान में शिया मस्जिदों में होने वाला यह छठा हमला है। और अक्सर हमलों की ज़िम्मेदारी दाइश स्वीकार करता है।
ज्ञात  रहे कि अफ़ग़ानिस्तान में स्थित संयुक्त राष्ट्र प्रतिनिधि ने कहा है कि धार्मिक स्थलों पर हमले स्वीकार्य नहीं हैं और यह अंतर्राष्ट्रीय नियमों का उल्लंघन है। मस्जिद के एक ज़िम्मेदार अब्दुल रज़्ज़ाक़ का कहना है कि सरकार इस हमले को रोक सकती थी लेकिन उसने ऐसा नहीं किया तो वह भी इसमें बराबर की भागीदार है, सरकार अगर हमें सुरक्षा प्रदान नहीं कर सकती तो साफ़ बता दे, हम अपनी रक्षा स्वंय कर सकते हैं।अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में  आतंकवाद का शिकार होने वालों में इस देश की सरकार के  खिलाफ तीव्र आक्रोश  है।

user comment
 

latest article

  ईरान के खिलाफ़ अमेरिकी मंत्री का बयान ...
  लेबनानी जनता ने किया सऊदी अरब के विरूद्ध ...
  सआद हरीरी स्वयं अपनी बातों पर भी विश्वास ...
  ईरान-इराक भूकंप, अब तक 328 की मौत और 4000 से अधिक ...
  आयतुल्लाह ख़ामेनई ने चेहलुम मार्च की ...
  जनरल क़ासिम सुलेमानी के पिता का देहांतः ...
  सुप्रीम लीडर आयतुल्लाह ख़ामेनई ने की ...
  ईरान एवं इराक़ में भूकंप के तीव्र झटके।
  नौजवानों को गुमराही से बचाएंः मौलाना ...
  लखनऊ में चेहलुम के जुलूस के कुछ दृश्य।