Hindi
Tuesday 25th of June 2024
0
نفر 0

कुमैल का चरित्र

कुमैल का चरित्र

लेखक: आयतुल्लाह हुसैन अनसारियान

किताब का नाम: शरहे दुआ ए कुमैल

 

कुमैल ने 18 वर्ष की आयु मे इस्लाम के महान पैग़म्बर (सल्लल लाहो अलैहे वआलेही वसल्लम) को पहचाना तथा ईश्वर के उज्जवल पद नबूवत से लाभान्वित हुए।[1]

कुमैल अमीरुलमोमेनीन[2] और हजरत मुजतबा[3] अलैहिस्सलाम के प्रिय एंव महान साथी है।[4]

अमीरुल मोमेनीन अलैहिस्सलाम के 10 विश्वासीय साथीयो मे से एक कुमैल है जो सिफ़्फ़ीन के युद्ध मे अमीरुल मोमेनीन साथ थे।[5]

कुमैल अमीरुल मोमेनीन के महान शियो, आशिक़ो और प्रेमियो मे से थे।[6]  

जारी



[1]  قَد أَدرَکَ مِنَ الحَیاۃِ النَّبَوَیَّۃ ثَمَانِیَ عَشَرَۃَ سَنَۃً

क़द अदरका मिनल हयातिन्नबावियते समानिया अशरता सनतन (अलअसाबा, भाग 5, पेज 286)

[2] अमीरुलमोमेनीन शिया समप्रदाय के प्रथम नेता (इमाम) अली की एक उपाधी है। (अनुवादक)

[3] मुजतबा, शिया समप्रदाय के दूसरे नेता -अली के सबसे बड़े पुत्र- हसन की उपाधी है। (अनुवादक)

[4] मुसतदरेकाते इल्मुल रेजाल, भाग 6, पेज 314

[5] अलइसाबा, भाग 5, पेज 486, अलबिदाया वन्निहाया, भाग 9, पेज 47, तारीख़े तबरी, भाग 11, पेज 664, अत्तबक़ातुल कुबरा (इब्ने सअद), भाग 6, पेज 217

[6] इरशादुल क़ुलूब, भाग 2, पेज 226, बिहारुल अनवार, भाग 33, पेज 399, अध्याय 33, हदीस 620

0
0% (نفر 0)
 
نظر شما در مورد این مطلب ؟
 
امتیاز شما به این مطلب ؟
اشتراک گذاری در شبکه های اجتماعی:

latest article

एक से ज़्यादा शादियाँ
यज़ीद रियाही के पुत्र हुर की ...
इस्लाम का झंडा।
तहरीफ़ व तरतीबे क़ुरआन
इस्लाम में पड़ोसी अधिकार
सऊदी अरब में महिलाओं का आजादी की ...
नमाज़ पढ़ने के जुर्म में 190 लोगों ...
सलाम
हिज़्बुल्लाह की बढ़ती शक्ति और ...
सुन्नत अल्लाह की किताब से

 
user comment