Hindi
Tuesday 18th of June 2024
0
نفر 0

इस्लाम हर तरह के अत्याचार का विरोधी है, आले सऊद अत्याचारी हुकूमत।

अहलेबैत न्यूज़ एजेंसी अबना की रिपोर्ट के अनुसार हालिया दिनों में सऊदी अरब में आयतुल्लाह शेख़ बाक़िर अलनिम् को मृत्युदंड दिए जाने और विश्व भर में हो रहे बेगुनाहों के नरसंहार के विरोध में फ़ैज़ाबाद शहर के लोगों ने एक जुलूस जवाहर अली खाँ के इमामबाड़े से निकाला जिसमें हर धर्म व समुदाय के लोगों ने भाग लिया। जुलूस
इस्लाम हर तरह के अत्याचार का विरोधी है, आले सऊद अत्याचारी हुकूमत।

अहलेबैत न्यूज़ एजेंसी अबना की रिपोर्ट के अनुसार हालिया दिनों में सऊदी अरब में आयतुल्लाह शेख़ बाक़िर अलनिम् को मृत्युदंड दिए जाने और विश्व भर में हो रहे बेगुनाहों के नरसंहार के विरोध में फ़ैज़ाबाद शहर के लोगों ने एक जुलूस जवाहर अली खाँ के इमामबाड़े से निकाला जिसमें हर धर्म व समुदाय के लोगों ने भाग लिया। जुलूस से पहले उल्मा ने स्पीच दी जिसमें आतंकवाद की निंदा की गई इस अवसर पर मौजूद सुन्नी मौलाना ज़मीर अहमद ने जो टाट शाह मस्जिद के इमाम हैं, कहा कि इस्लाम अमन और मुहब्बत का धर्म है न कि आतंकवाद का उन्होंने कहा कि इस समय कुछ संगठन ऐसे उठ खड़े हुए हैं जो अपने आपको इस्लामी संगठन कहते हैं और वह इस्लाम के नाम पर बेगुनाहों का नरसंहार कर रहे हैं सच तो यह है कि इस्लाम ज़ुल्म व अत्याचार का विरोधी है इस्लाम मानवता का संदेश देता है और इंसान को ऐसे रास्ते पर चलने की नसीहत करता है जिससे किसी दूसरे को कोई दुख न हो उन्होंने यह भी कहा कि हम हर प्रकार के आतंकवाद की निंदा करते हैं चाहे वह किसी भी हुकूमत या संगठन की ओर से हो, या अभी जल्द ही पंजाब के पठान कोट में किया गया आतंकवादी हमला हो हम हर प्रकार के आतंकवाद की निंदा करते हैं और उसका विरोध करते हैं।
प्रद्शन में मौजूद उल्मा ने आतंकवाद और सऊदी सरकार के द्वारा किए गए अत्याचार की निंदा की। प्रदर्शन में जुगल किशोर शास्त्री, मौलाना मुहम्मद मोहसिन, मौलाना वसी हसन खाँ,मौलाना मुहम्मद हुज्जत, मौलाना आज़िम बाक़री, मौलाना सैयद नदीम रज़ा ज़ैदी और बड़ी संख्या में महिलाऐं, बच्चे, बूढ़े और जवान मौजूद थे।


source : abna24
0
0% (نفر 0)
 
نظر شما در مورد این مطلب ؟
 
امتیاز شما به این مطلب ؟
اشتراک گذاری در شبکه های اجتماعی:

latest article

इस्लाम में पड़ोसी अधिकार
सऊदी अरब में महिलाओं का आजादी की ...
नमाज़ पढ़ने के जुर्म में 190 लोगों ...
सलाम
हिज़्बुल्लाह की बढ़ती शक्ति और ...
सुन्नत अल्लाह की किताब से
मानव की आत्मा की स्फूर्ति के लिए ...
तालिबान के साथ झड़प मे आईएसआईएल ...
इस्लामी भाईचारा
यज़ीद रियाही के पुत्र हुर की ...

 
user comment