Hindi
Thursday 18th of April 2024
0
نفر 0

रोहिंगया मुसलमानों के नमाज़ पढ़ने पर भी प्रतिबंध।

अबनाः म्यांमार के मुसलमान रमज़ान में सार्वजनिक स्थल पर अकेले या जमाअत के साथ नमाज़ नहीं पढ़ सकते।
म्यांमार के सबसे बड़े शहर रंगून के पूर्व में सरकारी अधिकारियों ने रमजान में सड़क पर नमाज़ पढ़ने के अपराध में तीन रोहिंगयाई मुसलमानों को गिरफ्तार कर लिया है।
यह घटना उस समय घटी जब पचास लोगों ने उस सड़क पर नमाज़ जमाअत पढ़नी चाही जो बुद्धिस्टो के टाक्टा मंदिर की ओर जाती है जहां कुछ समय से मुसलमानों के खिलाफ धार्मिक चरमपंथ जारी है। तथा क्षेत्र में मौजूद मुस्लिम धर्मगुरू 'ज़ामेन लट' का कहना है कि बुद्धिस्टों के कहने पर सरकार ने इस शहर में हमारे दो मदरसों को भी बंद कर दिया है जो पिछले साठ साल से चल रहे थे।
लेकिन अधिकारियों का कहना है कि सार्वजनिक स्थल पर नमाज़ पढ़ने से शांति प्रभावित होती है और यह कानून के खिलाफ है परंतु एक पुलिस अधिकारी ने अपना नाम न छापने की शर्त पर कहा है कि यह केवल मुसलमानों से विशेष है और दूसरों को खुली छूट है।

0
0% (نفر 0)
 
نظر شما در مورد این مطلب ؟
 
امتیاز شما به این مطلب ؟
اشتراک گذاری در شبکه های اجتماعی:

latest article

क़ुरआन की फेरबदल से सुरक्षा
पश्चाताप तत्काल अनिवार्य है 3
आह, एक लाभदायक पश्चातापी 2
पापी और पश्चाताप की आशा
इमाम जवाद अलैहिस्सलाम का शुभ ...
हदीसो के उजाले मे पश्चाताप 9
ईरानी खुफ़िया एजेंसी ने आतंकी ...
इस्लाम में पड़ोसी के अधिकार
शबे कद़र के मुखतसर आमाल
आशीषो मे फिजूलखर्ची अपव्यय है 3

 
user comment