Hindi
Wednesday 19th of June 2024
0
نفر 0

मूसेल में इराक़ी सेना की बढ़त जारी।

इराक़ की सेना और स्वयं सेवी बल के जवानों ने दाइश के विरुद्ध संयुक्त कार्यवाही जारी रखते हुए पश्चिमी मूसिल के विभिन्न क्षेत्रों को आतंकियों के नियंत्रण से स्वतंत्र करा लिया है।
सैन्य सूत्रों के अनुसार, इराक़ की फ़ेडरल पुलिस के जवान शुक्रवार की दोपहर पश्चिमी मूसिल के क्षेत्रों नबी शीस और अकीदात में प्रविष्ट हो गये और दाइश के आतंकियों को फ़रार होने पर विवश कर दिया।
नैनवा प्रांत के आप्रेशनल कमान्डर मेजर जनरल अब्दुल अमीर यारल्लाह ने अपने एक बयान में कहा कि उक्त दोनों क्षेत्रों की महत्वपूर्ण सरकारी इमारतों पर राष्ट्रीय ध्वज फहरा दिया गया है और आतंकवादी वहां से भाग खड़े हुए हैं।
दूसरी ओर इराक़ के आतंकवादी निरोधक दल के कमान्डर मेजर जनरल साद मअन ने पश्चिमी मूसिल में दाइश के साथ भीषण झड़पों की सूचना दी है। उनका कहना था कि पश्चिमी मूसिल में दाइश के अंतिम ठिकाने को ख़ाली कराने के उद्देश्य से आतंकवाद निरोधक दल के जवान पूरी शक्ति के साथ आप्रेशन कर रहे हैं।
उनका कहना था कि इराक़ी सेना के जवान अब मूसिल के प्राचीन क्षेत्र के द्वार तक पहुंच गये हैं जहां हमें तंग गलियों और रास्तों का सामना है इसीलिए इस क्षेत्र में आतंकवादियों के साथ भीषण लड़ाई की आशंका है।
उधर इराक़ के रक्षामंत्री ने कहा है कि दाइश को मूसिल में भीषण पराजय का सामना है और इसके लिए मूसिल में अपने नियंत्रण वाले क्षेत्रों में बाक़ी रहना असंभव होगा। इराक़ के रक्षामंत्री इरफ़ान अलहयाली ने मूसिल के दौरे के अवसर पर पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि सुरक्षा बलों के साथ मूसिल की जनता के सहयोग के परिणाम में दाशइ तबाही के निकट है।
ज्ञात रहे कि सुरक्षा बलों ने पश्चिमी मूसिल की स्वतंत्रता के लिए आप्रेशन 19 फ़रवरी से आरंभ किया था जिसके दौरान पश्चिमी मूसिल के एक बड़े क्षेत्र को आतंकवादी गुटों के नियंत्रण से स्वतंत्र करा लिया गया है।

0
0% (نفر 0)
 
نظر شما در مورد این مطلب ؟
 
امتیاز شما به این مطلب ؟
اشتراک گذاری در شبکه های اجتماعی:

latest article

इस्लाम में पड़ोसी अधिकार
सऊदी अरब में महिलाओं का आजादी की ...
नमाज़ पढ़ने के जुर्म में 190 लोगों ...
सलाम
हिज़्बुल्लाह की बढ़ती शक्ति और ...
सुन्नत अल्लाह की किताब से
मानव की आत्मा की स्फूर्ति के लिए ...
तालिबान के साथ झड़प मे आईएसआईएल ...
इस्लामी भाईचारा
यज़ीद रियाही के पुत्र हुर की ...

 
user comment